ताजा ख़बरें

अलग अंदाज में दिखे केंद्रीय मंत्री सिंधिया, आदिवासियों के साथ किया नृत्य

भोपाल। केंद्रीय नागरिग उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया इन दिनों ग्वालियर-चम्बल के प्रवास में हैं। शुक्रवार को वे गुना के बामौरी विधानसभा में आदिवासी समाज कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे तो यहां उनका एक अलग रूप देखने को मिला। उन्होंने यहां मंच पर आदिवासियों के साथ पारंपरिक नृत्य किया। सिंधिया ने मंच से देखा कि आदिवासी कलाकार अपने जनजाति का एक लोकनृत्य प्रदर्शित कर रहे हैं तो उनका मनमोहक नृत्य व संगीत सुनकर वे खुद को रोक नहीं पाए और मंच से उतरकर उनके साथ नाचने लगे। यह देखकर कार्यक्रम में आदिवासी समाज के हज़ारों लोग मुस्कुराने लगे।

दरअसल, इस साल के अंत में प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा सरकार का आदिवासियों पर फोकस है। आदिवासियों के साथ हो रहे उत्पीड़न के मामलों को सरकार गंभीरता से ले रही है। हाल में सीधी और शिवपुरी के अमानवीय व्यवहार के मामलों में भी सरकार ने तुरंत एक्शन लिया। खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह समेत भाजपा के तमाम नेता आदिवासियों के कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं।

शुक्रवार को गुना के सिमरोद गांव में आदिवासी सम्मेलन आयोजित किया गया। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी कार्यक्रम में शामिल हुए। यहां उन्होंने आदिवासियों के इतिहास को भारत का गौरवशाली इतिहास बताया। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज के विकास, उनकी प्रगति और राष्ट्र के योगदान में आगे लाकर कार्य करने का संकल्प लेकर भाजपा कार्यकर्ता संकल्पित है।

उन्होंने कहा कि भगवान बिरसा मुंडा, जनजातीय गौरव दिवस मनाया जाता है। कांग्रेस ने 60 साल में आदिवासियों की सुध नहीं ली। उनका केवल शोषण हुआ। आज आदिवासी को उभारने का काम केंद्र और राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान आदिवासियों ने मंच पर पारंपरिक नृत्य प्रस्तुत किया। उन्हें देख सिंधिया भी कदम नहीं रोक सके। वह भी पहुंचे और हाथ में तीर-कमान थामकर आदिवासियों के साथ नृत्य करने लगे। थोड़ी देर तक सिंधिया थिरके।

कमल नाथ-दिग्विजय सिंह पर साधा निशाना
केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार को पिछोर और कोलारस में जाटव समाज के सम्मेलन में भी शामिल हुए। इस मौके पर उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि चुनाव में आपके पास प्रवासी पक्षी आने शुरू हो जाएंगे और ऐसे-ऐसे पक्षी आएंगे, जिन्हें आपने पिछले पांच साल में कभी नहीं देखा होगा, तमाम योजनाओं के पिटारे खोलकर दिखाएंगे कि हम आपको यह देंगे, हम आपको वह देंगे, लेकिन सच्चाई यह है कि इन्होंने वादे कर युवाओं को बेरोजगारी भत्ता तक नहीं दिया। उल्टा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का 1500 रुपये महीना भी कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने अपनी तिजोरी में बंद करके रख लिया था।

इस मौके पर सिंधिया ने उनका साथ छोड़कर वापस कांग्रेस में शामिल हुए नेताओं को लेकर कहा कि जिंदगी में राजनीतिक दल में लोग आएंगे और जाएंगे। यह पहली बार नहीं हुआ है। मैं किसी को हथकड़ी लगाकर नहीं रख सकता हूं। जिंदगी में सिंधिया परिवार किसी व्यक्ति के विरूद्ध दुर्भावना नहीं रखता है और न ही कूटनीति रखता है। उन्होंने कहा कि आप स्वेच्छा से हमारे साथ जुड़े और अब स्वेच्छा से आपको किसी और के साथ जुड़ना है तो हम आपको शुभकामनाएं ही दे सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close